दवा जलाने के मामले की जांच के आदेश

गोंडा: गत गुरुवार की सुबह सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बेलसर के परिसर में सरकारी दवाएं कूड़े में फेंकने व बाद में उसे जलाए जाने के मामले की जांच शुरू हो गई है। इसके लिए टीम का गठन किया गया है। अधीक्षक से स्पष्टीकरण भी मांगा गया है। दैनिक जागरण ने शुक्रवार के अंक में पहले पेज पर इंजेक्शन कूड़े में फेंके, लगा दी आग शीर्षक से सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बेलसर की स्थिति को उजागर किया था। अस्पताल परिसर में ही आयरन, डेक्सट्रान इंजेक्शन के एंपुल कूड़े में मिले थे। सोशल मीडिया पर इसका वीडियो वायरल होने के बाद आनन-फानन में स्वास्थ्य कर्मियों ने कूड़े में आग लगा दी। अब इस मामले में उच्चाधिकारियों ने संज्ञान लेकर कार्रवाई शुरू कर दी है। सीएमओ डॉ. एसके श्रीवास्तव ने बताया कि मामले में अधीक्षक से स्पष्टीकरण मांगा गया है। साथ ही पूरे मामले की जांच के लिए दो सदस्यीय टीम का गठन किया गया है। यह टीम मामले की जांच करके रिपोर्ट देगी। इसके आधार पर कार्रवाई की जाएगी।

Source:

You may also like...