Gonda Old Pension Demand By Employees

Gonda Old Pension Demand :  कर्मचारी, शिक्षक, अधिकारी, पुरानी पेंशन बहाली मंच के तत्वावधान में गुरुवार को कर्मचारियों ने हुंकार भरी। कलक्ट्रेट में जिला पंचायत सभागार टीन शेड के नीचे यहां आयोजित एक दिवसीय धरना प्रदर्शन में तीन दर्जन से अधिक कर्मचारी संगठनों के पदाधिकारी व कर्मचारी शामिल हुए।

Advertisements

राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद, बेसिक शिक्षा परिषद, माध्यमिक शिक्षा परिषद, डीआरडीए, डिप्लोमा इंजीनियर संघ, पूर्व माध्यमिक शिक्षक संघ, ग्राम पंचायत विकास अधिकारी संघ, लोक निर्माण विभाग, पीडब्ल्यूडी नियमित कर्मचारी संघ, वित्त विहीन शिक्षक संघ केन्द्रीय कर्मचारी समन्वय समिति के बैनर तले कर्मचारियों ने आवाज बुलंद की।

Advertisements

अध्यक्षता कर रहे आनंद कुमार त्रिपाठी, चेयरमैन संघर्ष समिति, वाइस चेयरमैन विजय नारायण पांडे व संयोजक इंद्र पाल तिवारी ने पुरानी पेशन के लिए केन्द्र व राज्य सरकारों को निशाने पर रखा। अपनी सही – गलत फैसलों के लिए सरकारों के पास कोष रहता है लेकिन देश के विकास – उत्थान के लिए अपनी जिन्दगी का बहुमूल्य समय देने वाले कर्मचारियों की पेंशन के नाम मौन हैं। चेतावनी दी कि देश पर वही राज करेगा – जो पुरानी पेंशन को बहाल करेगा।

Advertisements

धरने को शिक्षक नेता विनय शुक्ल, किरन सिंह, राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद के सीतापति राम मिश्रा ने सम्बोधित किया। कहा कि अब कर्मचारी चुप नहीं बैठेगा। पुरानी पेंशन हम लेकर ही रहेंगे। पेंशन को भीख नहीं है यह कर्मचारियों का हक है। हमारी जीवन भर राष्ट्र सेवा करने के बाद सम्मान पूर्वक बुढ़ापा काटने का सहारा है।
चेतावनी दी कि यदि सरकार कर्मचारियों की हक की मांग मानकर कर्मचारियों के हक में निर्णय नहीं लेती है तो आगामी लोक सभा चुनाव में हम इसका जवाब देंगे। मंच पर दिनेश सिंह, उपेन्द्र सिंह, श्रीकांत तिवारी, प्रेम नाथ सिंह, कामेश्वर नाथ शुक्ला, अश्वनी प्रताप सिंह, बीके पांडेय, कन्हैया लाल, ईश्वर शरन तिवारी, राघवेंद्र तिवारी, खंड शिक्षा अधिकारी संघ के अश्वनी प्रताप सिंह, आदि के अलावा सैकड़ों की तादात में कर्मचारियों ने हिस्सा लिया।

खचाखच भर गया कलेक्ट्रेट परिसर:

Gonda Old Pension Demand  – कर्मचारी, शिक्षक, अधिकारी पुरानी पेंशन बहाली मंच के बैनर तले गुरुवार को आयोजित धरना प्रदर्शन के चलते कलेक्ट्रेट परिसर कर्मचारियों से खचाखच भर गया। जिला पंचायत सभागार टीन शेड के नीचे हजारों कर्मचारियों ने धरने मे हिस्सा लिया। कर्मचारियों की बाइक व वाहनों के चलते यहां जाम लग गया। आंदोलन के कारण सरकारी कामकाज दफ्तरों में प्रभावित हुआ। विभिन्न विभागों के अफसरों ने भी धरने का समर्थन किया है |

Advertisements

Rate This

Review It