Young Heroes of Gonda

Young Heros Gonda

नमस्कार साथियों , आज हम आपको गोंडा के कुछ ऐसे युवा नायकों के बारे में बताने जा रहे हैं जिन्होंने गैरराजनीतिक तौर पर गोंडा की दशा और दिशा बदलने का संकल्प लेकर उसके लिए लगातार प्रयासरत है और अपने दृढ़ संकल्प , सतत प्रयास से काफी हद तक इसमें सफलता भी पायी है |

यदि ऐसी ही है आपकी कोई कहानी , बदली है तस्वीर आपने भी पुरानी |

भेजिए हमारे पास अपनी जिद ,अपनी ही जुबानी ||

Abhishek Dubey

अभिषेक दुबे , पर्यावरण संरक्षण एवं पॉलिथीन के खिलाफ Nature Club Foundation [NCF] संस्था के संस्थापक हैं | इन्होने यह संस्था अपने प्रकृति प्रेम और बढ़ते पर्यावरण प्रदुषण को देखते हुए बनाया| आप अभिषेक दुबे और उनकी संस्था को लोगो को जागरूक करते हुए अपने घर के आस पास और राह चलते देख सकते है | यह इनकी दृढ इच्छाशक्ति ही है की जब गोंडा के युवा राजनीति और बढ़ते पश्चिमी सभ्यता के प्रभाव में हैं ऐसे में इस युवा की यह सोच वास्तव में गोंडा में बदलाव और Gonda एक अलग पहचान बनाने के लिए काफी है | अब यदि आवशयकता है तो आपके सहयोग, प्रोत्साहन एवं आपके पर्यावरण अनुकूल क्रिया कलापों की जिससे प्रकृति संरक्षण को बढ़ावा मिले और गोंडा हरा भरा , स्वच्छ , साफ़ और सुन्दर हो सके |

Avinash Singh

हाल ही में गोण्डा में मेडिकल कॉलेज खुलने की न्यूज़ समाचार पत्रों में छायी रही | इस मेडिकल के लिए पिछले कुछ वर्षों से सतत रूप से प्रयासरत हैं अविनाश सिंह | मेडिकल कॉलेज के लिए सतत रूप से सक्रिय रहकर , अपनी मांग पत्रों के द्वारा , रैलियों के द्वारा , जनप्रतिनिधयों तक पहुंचाने के कार्य में सलग्न रहे हैं | इनकी इस मेहनत ने उस वक़्त रंग दिखाया जब गोंडा में भी मेडिकल कॉलेज खोले जाने की घोषणा प्रशासन द्वारा की गयी | इस परिश्रम के पीछे उद्देश्य एक ही – की गोण्डा व आस पास के जिले के लोगों को अच्छी स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध हो सके और गोण्डा जनपद का चहुमुखी विकास हो सके | ऐसे समय में जब छोटे से लेकर बड़े लोगों तक सभी निजी स्वार्थ को चरितार्थ करने के लिए ही प्रयासरत हैं ऐसे में एक छात्र का आमजन की भलाई के लिए किया जाने वाला परिश्रम निश्चय ही अविनाश सिंह को लोगों की भीड़ से अलग करता है |

Sunil Tripathi

जोतिया गाँव निवासी सुनील त्रिपाठी एवं उनके मित्र स्वर्गीय प्रदीप कात्यायन ने मिलकर एक मंच बनाया है जिसका नाम जनसंवाद है | यह पूरी तरह से गैर राजनीतिक मंच है जोकि पूरी तरह से जनता जनार्दन के लिए समर्पित है | इस मंच के तहत ही गोंडा शहर में अतिक्रमण की समस्या , फोरलेन मार्ग का मुद्दा उठाया गया | यह मंच वर्ष 2015 से ही एक आंदोलन के रूप में कार्य कर रहा| अतिक्रमण की समस्या हो फिर चाहे सरयू नहर से सम्बंधित मुद्दे यह मंच आंदोलन चलाकर आमजन को जागरूक कर रहा है |

Rajesh Mishra

अंधविस्वास और अज्ञानता दोनों ही ऐसी चीजे हैं जो मानव हित में कदापि नहीं हो सकते इससे केवल कुरीतियों का जन्म ही हो सकता है| राजेश मिश्रा गोण्डा की मिट्टी पर जन्मा ऐसा ही एक व्यक्तित्व है जो अज्ञानता व अन्धविश्वास को खत्म करने और लोगों को जागरूक करने की मुहीम में प्रयासरत है |

ऐसे ही कुछ और नायक जैसे जीतेन्द्र पाण्डेय और देवव्रत सिंह जी हैं जिन्होंने अपनी सोच और संकल्प शक्ति से बदलाव लाने वाले कदम उठायें हैं | एक और जहाँ जीतेन्द्र पांडेय साहित्यिक गतिविधियों को बढ़ावा देने का कार्य कर रहे हैं तो दूसरी ओर देवव्रत सिंह रंगकर्म के जरिये गोण्डा के युवाओं की एक नई भूमिका गढ़ रहें हैं |

Rate This