विरोध के बीच जांची गईं 18 हजार कापियां

(विरोध के बीच जांची गईं 18 हजार कापियां) माध्यमिक शिक्षा परिषद की बोर्ड परीक्षा की उत्तर पुस्तिकाओं का मूल्यांकन शुरू हो गया है। रविवार को जिले के चारों मूल्यांकन केंद्रों पर 18 हजार उत्तर पुस्तिकाओं का मूल्यांकन हुआ। डीआइओएस सहित अन्य प्रशासनिक व पुलिस अधिकारियों ने भ्रमण कर मूल्यांकन की स्थिति व शांति व्यवस्था का जायजा लिया। हालांकि वित्तविहीन शिक्षक महासभा के बैनर तले शिक्षकों ने केंद्रों पर पहुंचकर विरोध प्रदर्शन किया। सरकार के विरोध में नारेबाजी की। अधिकारियों ने निर्धारिति तिथि में कार्य पूरा करने का दावा किया।

Advertisements

उत्तर पुस्तिकाओं के मूल्यांकन के लिए फखरुद्दीन अली अहमद राजकीय इंटर कॉलेज, राजकीय बालिका इंटर कॉलेज, श्री गांधी विद्यालय इंटर कॉलेज रेलवे कालोनी व आरपी आदर्श इंटर कॉलेज मनकापुर केंद्रों पर रविवार को मूल्यांकन हुआ। जिला विद्यालय निरीक्षक सत्य प्रकाश त्रिपाठी ने शहर के तीनों केंद्रों का भ्रमण किया। वित्तविहीन शिक्षकों के विरोध प्रदर्शन के मद्देनजर पुलिस बल को सक्रिय रहने का निर्देश दिया गया। शिक्षकों की कमी के चलते मूल्यांकन की गति धीमी है। ऐसे में निर्धारित तिथि तक कार्य पूरा कराना चुनौती बना हुआ है। अफसरों को दावा है कि वित्तविहीन शिक्षक भी जल्द मूल्यांकन कार्य शुरू कर देंगे। डीआइओएस ने बताया कि राजकीय व सहायता प्राप्त विद्यालयों के शिक्षकों को लगाया गया है, जिससे ज्यादा दिक्कत नहीं हो रही है। इनमें से जो नहीं आएगा। उनपर कार्रवाई की जाएगी।

Advertisements

नहीं करेंगे मूल्यांकन

– गोंडा। माध्यमिक वित्तविहीन शिक्षक महासभा ने चारों मूल्यांकन केंद्रों के सामने प्रदर्शन किया। बहिष्कार जारी रखने की चेतावनी दी। जिलाध्यक्ष रमेश मिश्र ने कहा कि मानदेय भुगतान शुरू होने तक आंदोलन जारी रहेगा। जिला मंत्री भोलानाथ मिश्र ने कहा कि सरकार की उपेक्षा का शिकार होकर शासकीय कार्य कर पाना संभव नहीं है। मांगे मानी जाने तक आंदोलन जारी रहेगा। फिर इसके लिए चाहे कुछ भी करना पड़ेगा। अर¨वद ¨सह, उमेश ¨सह, हिमांशु तिवारी, दुर्गेश शुक्ल सहित अन्य शामिल रहे।

Advertisements

 

 

Source: Jagran

Rate This

Review It