प्राथमिक स्कूलों में शिक्षक बनने के प्रशिक्षण डीएलएड 2019 की समय सारिणी तय नहीं, एनआइसी से ऑनलाइन आवेदन लेने की संभावित तारीखें तय होने का इंतजार, परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय पहले ही भेज चुका प्रस्ताव

प्राथमिक स्कूलों में शिक्षक बनने का प्रशिक्षण पाठ्यक्रम डीएलएड 2019 की समय सारिणी अब तक तय नहीं हो सकी है। यह जरूर है कि अगले माह से ऑनलाइन आवेदन लेने की तैयारियां जरूर चल रही हैं। परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय एनआइसी से संभावित तारीखें मिलने की राह देख रहा है, अफसरों की मानें तो जल्द ही इसका निर्धारण होने की उम्मीद है।


जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान डायट व निजी कालेजों में डीएलएड पाठ्यक्रम के लिए प्रवेश होना है। परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय इसका प्रस्ताव फरवरी में ही भेज चुका है, उसके बाद शासन स्तर पर एनआइसी व परीक्षा नियामक प्राधिकारी अफसरों की संयुक्त बैठक भी कराई गई। बैठक में कहा गया कि ऑनलाइन आवेदन की वेबसाइट तैयार करने में वक्त लगेगा, यह कार्य एनआइसी पूरा कर ले, ताकि उसी के अनुरूप प्रवेश का अधिकृत कार्यक्रम जारी किया जा सके।

एक माह से इसी का इंतजार हो रहा है। संकेत है कि जल्द ही एनआइसी संभावित तारीखें भेजेगा। ज्ञात हो कि इस बार भी प्रदेश भर में करीब दो लाख 11 हजार से अधिक सीटें हैं, हालांकि सभी सीटों के भरने को लेकर संदेह है। इसकी वजह प्राथमिक स्कूलों में बीएड पाठ्यक्रम को एनसीटीई से मान्यता देना है।

बीएड करने वाले अभ्यर्थी प्राथमिक के साथ ही माध्यमिक स्कूलों के भी आवेदन कर सकते हैं, जबकि डीएलएड प्रशिक्षुओं के पास अवसर सीमित हैं। दो वर्षो से लगातार बड़ी संख्या में सीटें खाली रह रही हैं। हालांकि सीटों को भरने के लिए तीन-तीन चरणों में प्रवेश दिया गया। परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय का दावा है कि इसी माह शासन अधिकृत कार्यक्रम घोषित करेगा और मई के पहले पखवारे से ऑनलाइन आवेदन लेने की प्रक्रिया शुरू होगी।

Source:Web

Rate This