आओ दिखाएं दम, गोंडा नहीं किसी से कम

मौका है एक नया रिकार्ड बनाने का आइए हम अपना दम दिखाएं और गोंडा को नया मुकाम दिलाएं। स्वच्छता को लेकर चल रही मुहिम में हम सब मिलकर एक नया इतिहास रचेंगे। ये संकल्प लेकर सोमवार को जिले की 1051 ग्राम पंचायतों में मिशन-32 का शुभारंभ हो रहा है। 120 घंटे में 32 हजार शौचालय बनाए जाएंगे। दस हजार राजगीर इज्जत घर के निर्माण की आधारशिला रखेंगे।

अभियान की निगरानी व सफल संचालन के लिए दस हजार कर्मचारी व अफसर लगाए गए हैं। गांवों में गड्ढा तैयार कराने के साथ ही निर्माण कार्य के लिए सामग्री पहुंच चुकी है। पांच-पांच गांवों का कलस्टर बनाकर नोडल अफसर तैनात किए गए हैं। दिनभर होने वाली गतिविधियों की निगरानी के लिए सोशल मीडिया का भी उपयोग किया जा रहा है। पंचायतीराज विभाग ने मिशन-32 नाम से वाट्सएप ग्रुप भी तैयार किया है। जिसमें अफसर व कर्मचारी जोड़े गए हैं। गांव में शौचालय निर्माण की फोटोग्राफ ग्रुप पर मांगी गई है। सोमवार को डीएम जेबी ¨सह विकास भवन परिसर से जागरूकता वाहन को हरी झंडी दिखाकर रवाना करेंगे।

कंट्रोल रूम की रहेगी नजर

-अभियान की सतत निगरानी के लिए 16 ब्लॉक मुख्यालयों के साथ ही जिला मुख्यालय पर कंट्रोल रूम की स्थापना की गई है। यहां कर्मचारियों के साथ ही जिला स्तरीय अधिकारियों की ड्यूटी लगाई गई है। कर्मचारी नोडल अफसरों को फोन करके अभियान की जानकारी लेंगे। कंट्रोल रूम का फोन नंबर सार्वजनिक कर दिया गया है। अभियान से जुड़ी जानकारियां फोन नंबर 05262-230100 व 233042 पर दी जा सकती हैं। शौचालय बनवाने वाले लाभार्थियों की एमआइएस फी¨डग के लिए कंप्यूटर ऑपरेटर तैनात किए हैं।

एसडीएम व सीओ करेंगे भ्रमण

-अभियान में कोई बाधा न आए, प्रशासन ने इसके लिए भी तैयार की है। एसडीएम व सीओ भी गांवों का भ्रमण करेंगे। यदि किसी भी व्यक्ति ने अवरोध उत्पन्न करने का प्रयास किया तो कार्रवाई की जाएगी। तहसीलदार, नायब तहसीलदार व थानाध्यक्ष भी गांवों का औचक निरीक्षण करेंगे।

अभियान के लिए मिले 15 करोड़

-शासन ने जिला प्रशासन के प्रस्तावित विशेष अभियान के लिए 15 करोड़ रुपये की धनराशि आवंटित की है। स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण के तहत ये धनराशि शौचालय बनवाने वाले परिवारों को प्रोत्साहन राशि के रूप में बांटी जाएगी। ग्रामवार बजट आवंटन के लिए प्रस्ताव मांगा गया है।

सहयोग की अपील

– मिशन-32 को सफल बनाने के लिए ग्राम प्रधान संघ परसपुर ब्लॉक अध्यक्ष विपिन कुमार ¨सह ने अभियान को सफल बनाने का आह्वान प्रधानों से किया है। उधर, उत्तर प्रदेश पंचायतीराज ग्रामीण सफाई कर्मचारी संघ जिलाध्यक्ष देवमणि शुक्ल ने सफाई कर्मियों से पूरे मनोयोग के साथ कार्य करके गोंडा को नई पहचान दिलाने की अपील की है।

अभियान में ये करेंगे सहयोग

-210 नोडल अफसर

-1051 ग्राम प्रधान

-6000 आंगनबाड़ी कार्यकर्ता

-2900 आशा बहू

-1800 सफाई कर्मचारी

-200 सचिव

-35 खंड प्रेरक

-30 कंप्यूटर ऑपरेटर

-5000 राजगीर

-16 बीडीओ

-11 एडीओ पंचायत

-05 जिला कंसलटेंट।

 

 

 

Source: Jagran

Rate This

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *