इमाम हुसैन की याद में नम आंखों से पेश किया पुरसा

In the memory of #Imam #Hussain

@imamhussain की याद में नम आंखों से पेश किया पुरसा

@gondainfo

ऊंटों पर सजी अमारियां देख अजादारों की आंखें छलक गईं। भीगी पलकों से शबीह -ए-मुबारक की जियारत कर आंसुओं का पुरसा पेश किया। हजरत इमाम -ए-अली मुकाम की शहादत के गम में रविवार को रिजवी नगर वौगड़ा स्थित कर्बला से शाही जुलूस निकाला गया।

जुलूस से पहले अंजुमन गुलदस्ता-ए-इमाम-रजा की ओर से मजलिस हुई। मजलिस को मौलाना सादिक हसन फैजाबादी ने खिताब किया। मौलाना ने इमाम की जिंदगी पर विस्तार से रोशनी डालते हुए उनकी शिक्षाओं पर अमल करने की अपील की। मौलाना ने इमाम की शहादत बयां की तो अजादारों की आंखें नम हो उठीं। इसके बाद कर्बला परिसर में शाही जुलूस के निकलने का सिलसिला शुरू हो गया। जुलूस में ऊंटों पर सजी अमारियों के साथ इमाम का ताबूत व जुलजनाह सहित अन्य शबीह-ए-मुबारक की जियारत कराई गई। देर रात शब्बेदारी का सिलसिला शुरू हुआ जो पूरी रात जारी रहा। कई मातमी अंजुमन ने नौहाख्वानी व सीनाजनी कर पुरसा पेश किया।
ताबूत की जियारत को उठे हाथ : इमाम के चाहने वालों ने शबीह-ए-मुबारक की जियारत कर दुआएं मांगी। अंजुमन दस्त-ए- हुसैनी व इमाम -ए-रजा कमेटी की ओर से अजादारों को हजरत इमाम अली रजा अलैहिस्सलाम के ताबूत की जियारत कराई गई।

Source:

Rate This