मेडिकल कॉलेज से होगा सेहत सुधार, विभाग को जमीन का इंतजार

#upcm in #gonda

#Medical #college से होगा सेहत सुधार, विभाग को जमीन का इंतजार

@gondainfo

#Gonda: शुक्रवार को मनकापुर के अशरफाबाद में #upcm #yogiadityanath ने मेडिकल कॉलेज की स्थापना का एलान करके सरकारी तंत्र की सक्रियता बढ़ा दी है।

Advertisements
दरअसल, फरवरी से ही यहां पर प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग मेडिकल कॉलेज की स्थापना के लिए 12 एकड़ जमीन की खोज कर रहा है, लेकिन वह उसे अभी तक नहीं मिल सकी है। अब एक बार फिर फाइलें खंगाली जा रही हैं।
Advertisements

भारत सरकार की नए मेडिकल कॉलेजों की स्थापना को लेकर संचालित योजना के दूसरे चरण में जिला अस्पतालों को उच्चीकृत करके राजकीय मेडिकल कॉलेज बनाए जाने की तैयारी है।

Advertisements
इस पर 16 फरवरी को प्रदेश शासन के विशेष सचिव शमीम अहमद खान ने गोंडा के साथ ही श्रावस्ती, हरदोई, सुल्तानपुर, अमेठी, सीतापुर सहित 21 जिलों के डीएम को पत्र भेजा था, जिसमें जिला अस्पताल का उच्चीकरण करके मेडिकल कॉलेज बनाने की जानकारी देते हुए प्रस्ताव मांगा गया था। इसके लिए बाकायदा मानक तक जारी किए गए थे।
Advertisements
इसके बाद से जमीन की खोज विभाग कर रहा है। डीएम जेबी ¨सह का कहना है कि जानकारी की जा रही है। हालांकि इससे आम लोग खुश है। आइएमए की सचिव डॉ. अनीता मिश्रा का कहना है कि इससे मरीजों को बेहतर इलाज की सुविधा मिल सकेगी।
Advertisements

– न्यूनतम 200 बेड की शैय्या वाला अस्पताल।

– संबंधित जनपद में कोई भी निजी अथवा राज्य का मेडिकल कॉलेज संचालित न हो।

– राजकीय चिकित्सालय तथा 10 किमी के अंदर उपलब्ध अनुपूरक भूमि का कुल क्षेत्रफल न्यूनतम 20 एकड़ हो।

इस पर मांगी गई थी रिपोर्ट

Advertisements

– वर्तमान में संचालित जिला चिकित्सालय का क्षेत्रफल एकड में, लंबाई व चौड़ाई सहित।

– जिला चिकित्सालय के भू अभिलेख, खतौनी, खसरा एवं नजरी नक्शा की प्रति।

– जिला चिकित्सालय के स्वामित्व संबंधी अभिलेख।

– क्या जिला अस्पताल नगर निगम, नगर पंचायत, नगर पालिका की सीमा में स्थित है।

– जिला चिकित्सालय के अतिरिक्त इनकी कोई अन्य ¨वग जैसे महिला अस्पताल, बाल एवं मातृत्व चिकित्सालय, महिला ¨वग इत्यादि स्थित तो नहीं है, यदि है तो कितनी शैय्या का है।

– एमसीआइ के मानक के अनुसार प्रस्तावित भूमि के संबंध में उसके स्वामित्व संबंधी अभिलेख की प्रति, उक्त भूमि की भौतिक स्थिति क्या है।

– प्रस्तावित भूमि ग्राम सभा की है अथवा किसी अन्य विभाग व संस्था के नाम दर्ज है, भूमि की लंबाई व चौड़ाई क्षेत्रफल सहित क्या है।

– प्रस्तावित भूमि का एप्रोच रोड क्या है, इस रोड की लंबाई व चौड़ाई कितनी है।

सरकार ने मेडिकल कॉलेज की स्थापना को लेकर मानक तय करते हुए भूमि के बारे में जानकारी मांगी है। जिस पर अपर जिलाधिकारी को पत्र लिखा गया है। जिसमें उनसे

Advertisements
राजस्व विभाग के सहयोग से जमीन उपलब्ध कराने को कहा गया है। जमीन संबंधी प्रक्रिया पूरी होते ही शासन को रिपोर्ट दे दी जाएगी।

– डॉ. संतोष कुमार श्रीवास्तव, सीएमओ गोंडा

Related NEWS:

स्वागत के बहाने नेताओं ने रखी क्षेत्र के विकास की बात

Advertisements

वह देखव योगी बाबा आय गए, अब हमरो घर पक्का बनि जाए

Advertisements

Source:

 

 

 

Rate This

Review It