ऑडिट में पास पंचायतों को 115.78 करोड़ का तोहफा

गोंडा : खर्च का ब्यौरा अपडेट रखने से साथ ही ऑडिट कराने वाली ग्राम पंचायतों को 115.78 करोड़ रुपये का तोहफा मिला है। चतुर्थ राज्य वित्त आयोग की संस्तुति पर गोंडा समेत 48 जिलों की ग्राम पंचायतों के लिए बजट जारी हुए हैं।

Advertisements

राज्य सरकार परिसंपत्तियों के रखरखाव के साथ ही गांव में जनता को बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए चतुर्थ राज्य वित्त आयोग की संस्तुति पर बजट उपलब्ध कराती है। बेसिक ग्रांट के साथ ही खर्च का ब्यौरा अपडेट करने वाली पंचायतों को पांच फीसद बजट ऑडिट कराने पर दिया जाता है। शासन स्तर पर समीक्षा के दौरान गोंडा समेत 48 जिलों की ग्राम पंचायतों के ऑडिट कराने की बात सामने आई थी। संबंधित जिलों में अधिकतम पचास फीसद गांवों की आडिट हुई है। ऑडिट कराने वाली ग्राम पंचायतों की रिपोर्ट सभी जिलों के अधिकारियों से मांगी गई थी।

Advertisements
आयोग ने ग्राम पंचायतों के लिए 115.78 करोड़ रुपये आवंटित किया है। संबंधित जिले के डीपीआरओ को धनराशि ग्राम पंचायतों के खाते में भेजने के आदेश दिए गए हैं।

इनसेट

जिला पंचायत व क्षेत्र पंचायत की छुट्टी

-ऑडिट न कराने पर गोंडा जिले की न तो जिला पंचायत को पैसा मिला है और न ही क्षेत्र पंचायत। जिले के 16 क्षेत्र पंचायतों में से किसी ने भी 2015-16 में खर्च की ऑडिट नहीं कराई है। यही हाल जिला पंचायत गोंडा का भी रहा है। देवीपाटन मंडल की जिला पंचायत बहराइच को 2.19 करोड़ रुपये मिले हैं। जबकि श्रावस्ती जिले की पांच क्षेत्र पंचायत को 52.34 लाख रुपये आवंटित हुए हैं।

Advertisements

 

इनसेट

ऑडिट कराने वाली ग्राम पंचायतों के लिए 3.04 करोड़ रुपये मिले हैं। ऑडिट न कराने पर जिला पंचायत व क्षेत्र पंचायत को एक भी पैसा नहीं मिला है। आवंटित धनराशि ऑडिट कराने वाली ग्राम पंचायतों के खाते में भेजी जा रही है।

Advertisements

 

 

 

Source: Jagran

Rate This

Review It