डिप्टी सीएम से बीएड को प्राइमरी शिक्षक भर्ती से बाहर करने की मांग, डीएलएड डिग्रीधारकों को नुकसान होगा

डीएलएड प्रशिक्षु मोर्चा 2017 ने सोमवार को डिप्टी सीएम डॉक्टर दिनेश शर्मा से मुलाकात कर बीएड को प्राइमरी शिक्षक भर्ती से बाहर हटाने की मांग की। प्रशिक्षुओं ने आशंका जताई कि बीएड को प्राथमिक में शामिल करने से हजारों बीटीसी अभ्यर्थियों का भविष्य चौपट हो जाएगा। इस पर डिप्टी सीएम ने उन्हें आश्वासन दिया कि उनके मांगों पर विचार कर समाधान निकाला जाएगा। साथ ही डिप्टी सीएम ने प्रशिक्षुओं को सचिवालय स्थित अपने कार्यालय में मांगों पर चर्चा के लिए भी बुलाया।



डीएलएड डिग्रीधारकों को नुकसान होगा
संगठन के जिला अध्यक्ष शरद कुमार, जिला महामंत्री शिवम उपाध्याय, जिला उपाध्यक्ष रितेश अवस्थी के नेतृत्व में कई प्रशिक्षुओं ने डिप्टी सीएम डॉक्टर दिनेश शर्मा से उनके आवास पर मुलाकात कर कहा कि प्राइमरी शिक्षक भर्ती में बीएड को शामिल करने से उन लोगों का भविष्य अंधकारमय हो गया है। नियमानुसार तो बीएड वालों को जूनियर से इंटर तक अध्यापक बनना चाहिए पर पिछले दिनों हुए संशोधन के कारण अब वे प्राइमरी शिक्षक भर्ती में भी बैठ सकते हैँ। ऐसे में डीएलएड (पूर्व में बीटीसी) डिग्री धारियों को निराशा हुई है। बीटीसी कोर्स ही प्राइमरी शिक्षक के लिए संचालित किया गया था, पर अब इस कोर्स के प्रति आकर्षण घट जाएगा।


बीएड को प्राइमरी में शामिल करने से शिक्षक भर्ती में डीएलएड वालों को नुकसान होगा। इस मामले में डिप्टी सीएम ने प्रशिक्षुओं को आश्वासन दिया कि समस्या पर विचार किया जाएगा और प्रशिक्षुओं की समस्या का निदान कराया जाएगा। इस मौके पर लखनऊ से सचिन द्विवेदी, आशीष, विवेक गुप्ता, रमाकांत, सुबोध शुक्ला, रजनीश और अजय कुमार शुक्ला, अनन्या दुबे, पल्लवी, प्रिया, अंशिका, शाहिस्ता, अर्चना, हेमा, आकांक्षा, बहराइच से आए उज्जवल, वीरेश, फैजाबाद के अभिषेक मिश्र, शालू समेत कई डिग्रीधारी मौजूद थे।

Source: Web

Rate This

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *